State Level Mission

प्रादेशिक स्तर पर निम्नलिखित कार्य संपादित करके केंद्रीय कार्यकारिणी को प्रेषित करेंगे

  • आगामी 3 मास में अपने-अपने प्रांत में जिला स्तर कार्यकारिणी गठन कर पूरी लिस्ट, नाम, पता, कार्यकारिणी का विवरण दूरभाष से प्रेषित करें। इसके लिए आप वेबसाइटwbfindia.com से प्रफार्मा ले सकते हैं।
  • प्रत्येक प्रांतीय सभा स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने वाले ब्राह्मण क्रांतिकारियों, आजादी की लड़ाई में अपनी आहूति देने वाले ब्राह्मणों की जयंती और पुण्यतिथि मनाएं। उनकी सूची तैयार करें। इस सूची को केंद्रीय कार्यालय को भेंजे।
  • सभी प्रांतीय सभाएं वेबसाइट में दी गई विजिटिंग कार्ड के प्रारूप को अपनाएं। अपने-अपने प्रांत में wbf नाम से प्रचलित ई-मेल का अनुसरण करें। किसी भी तरह परेशानी होने पर राष्ट्रीय स्तर पर आईटी के प्रभारी अंबर स्वामी से संपर्क साध सकते हैं। उनका नंबर वेबसाइट पर मौजूद हैं
  • प्रांतीय स्तर पर आपातकालीन समिति का भी निर्माण करें। इनके नाम केंद्रीय कार्यालय को भी सूचित करें। इसमें डॉक्टरों को अधिक संख्या में जोड़ने की आवश्यकता है। जो आपातकालीन स्थिति में मदद कर सकें
  • शिक्षा पर अधिक फोकस देने का सभी प्रांतीय सभाएं प्रयास करें। यह सुनहरे भविष्य की कुंजी है। प्रांतीय सभाएं महिलाएं, युवाओं, शिक्षाविद और अन्य विद्वान जनों के सहयोग से एक मासिक पत्रिका का प्रकाशन करें।
  • अपने धार्मिक पर्व-तीज त्योहारों से युवा पीढ़ी को अवगत कराने के लिए विशेष कार्यक्रम बनाए जाएं। ताकि वे अपनी सभ्यता व संस्कृति को जान व समक्ष सकें।
  • प्रत्येक प्रांत में सामूहिक यज्ञोपवित संस्कार किया जाए।
  • विवाह में अधिक खर्च की प्रवृति पर रोक लगे। इसके लिए जागरूकता अभियान चलाया जाए।
  • प्रत्येक जिले में ब्राह्मण धर्मशाला और छात्राशाला खोलने का प्रयास हो
  • गांव की खाली जमीन को गिफ्ट लेने का प्रयास हो। उसमें संस्कृत की वेदशाला खोलने का प्रयास हो
  • प्रेरणा के लिए ऋषि मुनियों का चित्र गांवों में बांटा जाए
  • बीबीएन का निर्माण सभी जिलों में किया जाए। जिससे आर्थिक रूप से ब्राह्मण समाज सशक्त हो
  • विभिन्न देशों में कार्यरत wbf unit के साथ रोजगार उपलब्ध कराने के लिए गंभीरता से प्रयास। उन देशों में प्लेसमेंट आदि के लिए कार्य किया जाएगा। ताकि ब्राह्मण युवाओं को एक बेहतर प्लेटफार्म मिल सके। इस संबंध में शिक्षा व रोजगार के लिए एक कमेटी का भी गठन किया जाएगा।
  • सामूहिक विवाह समारोह के लिए मध्यप्रदेश यूनिट की तरह कार्य करना। ज्ञात हो कि इसके लिए मध्यप्रदेश यूनिट ने वर्ल्ड रिकॉर्ड प्राप्त किया है। उनकी अध्यक्षता में सभी प्रदेश स्तर पर कमेटियों को गठित करने के लिए प्रेरित करना। इसके लिए कोर्डिनेटर पंडित योगेंद्र महंत और पंडित देवेंद्र शास्त्री होंगे।
  • समस्त उपवर्गीय ब्राह्मणों जैसे सरयूपारीण, गौड़, कान्यकुब्ज व अन्य सहित सभी को एक मंच पर लाने का प्रयास करना।
  • महिला व युवा इकाइयों पर अधिक फोकस करना। अधिक संख्या में सभा से महिला व युवाओं को जोड़ना
  • सर्व ब्राह्मण समाज के लिए वैवाहिक परिचय सम्मेलन, रोजगार सम्मेलन, सभ्यता व संस्कृति संरक्षण सम्मेलन आदि का आयोजन करना
  • प्रदेश में धार्मिक स्थल मंदिरों, धार्मिक न्यासों व कर्मकांडी पंडितों का एक मंच पर लाकर उन्हें वर्ल्ड ब्राह्मण फेडरेशन से जोड़ना। उनके संरक्षण के लिए विशेष अभियान चलाना
  • कश्मीरी पंडितों के सुरक्षा, शिक्षा व सम्मान के लिए निरंतर कार्यक्रम चलाना। उन्हें समाज के मुख्य धारा से जोड़ने का प्रयास करना